india GK, Uncategorized

How many Jyotirling’s in india.

हमारे देश में 12 ज्योतिर्लिंग विद्यमान है. धर्म ग्रंथों के अनुसार इस पृथ्वी पर प्रथम ज्योतिर्लिंग की स्थापना सोमनाथ में हुई जो स्वयं चंद्रमा ने की थी.

यह सभी द्वादश ज्योतिर्लिंगों में सबसे अधिक प्रमुख स्थान है इस ज्योतिर्लिंग के दर्शन मात्र से ही सभी रोग समाप्त हो जाते है.
शिव पुराण के अनुसार दक्ष प्रजापति ने अपनी 27 कन्याओं का विवाह चंद्रमा से किया था परंतु चंद्रमा को अपनी 27 पत्नियों में से रोहिणी नाम की पत्नी से विशेष प्रेम था. जिस कारण बाकी 26 पत्नियों ने अपनी पिता की शरण में जा कर पूरी व्यथा बताई.
यह वाक्य सुन कर दक्ष प्रजापति ने जाकर चंद्रमा को समझाने का प्रयत्न किया परंतु चंद्रमा के न समझने पर राजा दक्ष ने चंद्रमा को श्राप दिया की तुमने अपनी 26 पत्नियों का अनादर किया है तो तुम्हे क्षय रोग हो जाए. 
चंद्रमा को क्षय रोग होने के कारण देवता और ऋषि मुनियों में हाहाकार मच गया. सभी देवता और ऋषि-मुनियों ने मिलकर ब्रह्मा जी के पास जाकर चंद्रमा के इस श्राप मुक्ति का रास्ता पूछा.
ब्रह्माजी ने कहा की इस श्राप से बचने के लिए चंद्रमा भगवान शिव की आराधना लिंग के रूप में करें.
वर्णित है की चंद्रमा ने भगवान शिव को लिंग रूप में स्थापित किया. इसके बाद 10 करोड़ महामृत्युंज मंत्र का जाप कर उनको प्रसन्न किया. जिससे भगवान शिव प्रसन्न हो गए. चंद्रमा श्राप मुक्त हो गया और चंद्रमा के क्षय रोग की शांति हुई.
यही कारण है की चंद्रमा कृष्ण पक्ष में क्षीण रहते है और शुक्ल पक्ष में बलवान.
आपको बता दें कि दक्ष प्रजापति की 27 कन्या कोई और नही, बल्कि हमारे ज्योतिष् शास्त्र के 27 नक्षत्र है.

1 Comment

  1. When you think about it, that’s got to be the right answre.

Leave a Reply

Theme by Anders Norén